सेलेक्ट केटेगरी
Transfer
सेलेक्ट लोकेशन
Transfer
Breaking News
  • भावांतर भुगतान योजना-सवा लाख किसानों को मिलेगी 197 करोड़ रुपये की भावांतर राशि: मुख्यमंत्री
    भावांतर भुगतान योजना-सवा लाख किसानों को मिलेगी 197 करोड़ रुपये की भावांतर राशि: मुख्यमंत्री
    मण्डियों के भाव की सूचना किसानों को एस.एम.एस. से मिलेगी मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समीक्षा की भोपाल, गुरुवार, 9 नवम्बर 2017। भावांतर भुगतान योजना में प्रदेश के स ...
  • भावांतर भुगतान योजना में फसलों के आदर्श मूल्य घोषित
    भावांतर भुगतान योजना में फसलों के आदर्श मूल्य घोषित
    भोपाल, गुरुवार, 9 नवम्बर 2017। खरीफ-2017 के लिये भावांतर भुगतान योजना के अंतर्गत नियत प्रक्रिया एवं प्रावधानों के आधार पर 16 से 30 अक्टूबर, 2017 की मध्य अवधि के ल ...
  • किसानों को राहत, सरकार ने गेहूँ का आयात शुल्क किया दोगुना
    किसानों को राहत, सरकार ने गेहूँ का आयात शुल्क किया दोगुना
    नई दिल्ली, गुरुवार, 9 नवम्बर 2017। सरकार ने गेहूँ के सस्ते आयात को रोकने तथा चालू रबी सत्र में किसानों को मूल्य के संदर्भ में सकारात्मक संकेत देने के लिए इसके आया ...
  • आमजन को सुरक्षित एवं पौष्टिक खाद्यान्न के लिए जैविक कृषि राष्ट्रीय एवं वैश्विक आवश्यकता: राधा मोहन सिंह
    आमजन को सुरक्षित एवं पौष्टिक खाद्यान्न के लिए जैविक कृषि राष्ट्रीय एवं वैश्विक आवश्यकता: राधा मोहन सिंह
    नई दिल्ली, शुक्रवार, 9 नवंबर 2017। धरती मां के स्वास्थ्य, सतत उत्पादन, आमजन को सुरक्षित एवं पौष्टिक खाद्यान्न के लिए जैविक कृषि राष्ट्रीय एवं वैश्विक आवश्यकता है। ...
  • खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक संभावनाओं को भी दर्शाता है: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक संभावनाओं को भी दर्शाता है: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
    खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक संभावनाओं को भी दर्शाता है: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नई दिल्ली। खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक ...
  • केंद्रीय बजट 2016-17 में कृषि क्षेत्र के लिये 35,984 करोड़ रुपये का प्रावधान
    केंद्रीय बजट 2016-17 में कृषि क्षेत्र के लिये 35,984 करोड़ रुपये का प्रावधान
    नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार, 29 फरवरी 2016 को केंद्रीय बजट 2016-17 प्रस्तुत किया। जानिये कृषि और उससे सम्बद्ध क्षेत्र से जुड़े मुख्य बिंदु। 1. ...
  • केंद्रीय बजट  2016-17 ग्रामीण विकास बजट प्रावधान 87,765 करोड़ रुपये
    केंद्रीय बजट 2016-17 ग्रामीण विकास बजट प्रावधान 87,765 करोड़ रुपये
    नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सोमवार, 29 फरवरी 2016 को केंद्रीय बजट 2016-17 प्रस्तुत किया। जानिये ग्रामीण विकास क्षेत्र से जुड़े मुख्य बिंदु। 1. ग्रामीण ...
  • वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लें संकल्प: प्रधानमंत्री
    वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लें संकल्प: प्रधानमंत्री
    प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शेरपुर से किया प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का शुभारंभ राष्ट्रीय कृषि बाजार का शुभारंभ बाबा साहेब अंबेडकर की जयंती से भोपाल, गुरुवा ...
  • हमारे देश की कृषि शिक्षा वैश्विक मानकों के अनुरूप होने चाहिये: राष्ट्रपति
    हमारे देश की कृषि शिक्षा वैश्विक मानकों के अनुरूप होने चाहिये: राष्ट्रपति
    नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शुक्रवार, 5 फरवरी 2016 को यहाँ पूसा स्थित भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) के 54वें दीक्षांत समारोह में भाग लिया। इस ...
Latest E-Paper's
18 अप्रैल 2016
07 मार्च 2016
29 फरवरी 2016
22 फरवरी 2016
15 फरवरी 2016
08 फरवरी 2016
01 फरवरी 2016
News
Pages: पहला पृष्ठ   1 2 3 4 5  आखरी पृष्ठ 
आमजन को सुरक्षित एवं पौष्टिक खाद्यान्न के लिए जैविक कृषि राष्ट्रीय एवं वैश्विक आवश्यकता: राधा मोहन सिंह
आमजन को सुरक्षित एवं पौष्टिक खाद्यान्न के लिए जैविक कृषि राष्ट्रीय एवं वैश्विक आवश्यकता: राधा मोहन सिंह
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 09 नवम्बर 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
नई दिल्ली, शुक्रवार, 9 नवंबर 2017। धरती मां के स्वास्थ्य, सतत उत्पादन, आमजन को सुरक्षित एवं पौष्टिक खाद्यान्न के लिए जैविक कृषि राष्ट्रीय एवं वैश्विक आवश्यकता है। अब देश में खाद्य आपूर्ति की कोई समस्या नहीं है, लेकिन देश की बढ़ती जनसंख्या को सुरक्षित एवं पौष्टिक खाद्यान उपलब्ध कराने की महत्वपूर्ण चुनौती का कार्य अभी शेष है। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने यह बात इंडिया एक्सपो सेंटर, ग्रेटर नोएडा में जैविक कृषि विश्व कुम्भ 2017 का उदघाटन करते हुए कही। इस आयोजन में विश्व...
Published on E-Paper: 13 नवम्बर 2017, Page No 1
हमर छत्तीसगढ़ योजना- मुख्यमंत्री डॉ. सिंह से तीन जिलों के 558 पंच-सरपंचों ने की भेंट
हमर छत्तीसगढ़ योजना- मुख्यमंत्री डॉ. सिंह से तीन जिलों के 558 पंच-सरपंचों ने की भेंट
लोकेशन: छत्तीसगढ़ - रायपुर डेट: 08 नवम्बर 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
रायपुर, बुधवार, 8 नवम्बर 2017। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से यहाँ उनके निवास परिसर में हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत राजधानी रायपुर के भ्रमण पर पहुँचे तीन जिलों के 58 ग्राम पंचायतों से 558 पंचायत प्रतिनिधियों ने भेंट की। इनमें रायगढ़, कोरबा और कोरिया जिले के पंचायत प्रतिनिधि शामिल थे। मुख्यमंत्री ने सभी पंचायत प्रतिनिधियों से चर्चा करते हुए राजधानी भ्रमण में उनके अनुभवों की जानकारी ली। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों को यहाँ हो रहे बड़े-बड़े विकास कार्यों को देखकर प्राप्त अनुभवों से नई सीख लेकर अपने-अ...
Published on E-Paper: 13 नवम्बर 2017, Page No 1
खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक संभावनाओं को भी दर्शाता है: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक संभावनाओं को भी दर्शाता है: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 05 नवम्बर 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक संभावनाओं को भी दर्शाता है: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नई दिल्ली। खान-पान वास्तव में संस्कृति के साथ-साथ वाणिज्यिक संभावनाओं को भी दर्शाता है। भारत में मौजूदा समय में 370 अरब अमेरिकी डॉलर मूल्य के खाद्य पदार्थों की खपत होती है। वर्ष 2025 तक यानी एक दशक से भी कम समय में यह आँकड़ा एक ट्रिलियन डॉलर के स्तर पर पहुँच जाने की उम्मीद है। भारत की समूची खाद्य मूल्य शृंखला में व्यापक अवसर उपलब्ध हैं जिनमें फसल कटाई उपरांत सुविधाएं, रसद (लॉजिस्टिक्स), शीत भण...
Published on E-Paper: 13 नवम्बर 2017, Page No 1
प्रतिबंध के डर से समुद्री खाद्य निर्यात में गिरावट
प्रतिबंध के डर से समुद्री खाद्य निर्यात में गिरावट
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 31 अक्तूबर 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
भुवनेश्वर, मंगलवार, 31 अक्टूबर 2017। भारतीय मत्स्य उत्पादों पर यूरोपीय संघ (ईयू) के प्रतिबंध को लेकर अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है। इन हालात में भारतीय निर्यातकों को ईयू के देशों की माँग में खासी गिरावट का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, ये आयातक नवंबर में भारत का दौरा करने वाले यूरोपीय संघ के विशेषज्ञ दल की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। भारत का तीसरा सबसे बड़ा बाजार यूरोपीय संघ भारतीय समुद्री खाद्य उत्पादों में एंटीबायोटिक दवाओं की उपस्थिति की वजह से इन पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहा है। न...
भारत ने अमेरिका से फलों की निर्यात प्रक्रिया को आसान बनाने की रखी माँग
भारत ने अमेरिका से फलों की निर्यात प्रक्रिया को आसान बनाने की रखी माँग
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 29 अक्तूबर 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
नई दिल्ली, रविवार, 29 अक्टूबर 2017। भारत और अमेरिका ने द्विपक्षीय व्यापार में विविधता लाने और बढ़ते हुए व्यापार घाटे के मुद्दों पर भी ध्यान देने के लिए सहमत हुए हैं। अमेरिका यात्रा पर पहुँचे वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने अमेरिका से आम और अनार के निर्यात की प्रक्रियाओं को भी आसान बनाने की माँग की है। इस दौरान वाणिज्य मंत्री ने अमेरिका की कंपनियों से भारत में मेक इन इंडिया नीति का लाभ उठाने के लिए भारत में विनिर्माण इकाइयाँ लगाने की अपील की। भारत अमेरिका वाणिज्यिक वार्ता के प्रारंभ में अमेरिका क...
Published on E-Paper: 06 नवम्बर 2017, Page No 1
आईएसएआरसी, दक्षिणी एशियाई एवं अफ्रीकी देशों में खाद्य उत्पादन एवं कौशल विकास के लिए एक वरदान साबित होगा: राधा मोहन सिंह
आईएसएआरसी, दक्षिणी एशियाई एवं अफ्रीकी देशों में खाद्य उत्पादन एवं कौशल विकास के लिए एक वरदान साबित होगा: राधा मोहन सिंह
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 02 अगस्त 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
आईएसएआरसी की स्थापना के लिए कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग और अन्तर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान ने करार ज्ञापन (एमओए) पर हस्ताक्षर किये नई दिल्ली, बुधवार, 2 अगस्त 2017। आईएसएआरसी की स्थापना के लिए कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग के प्रतिनिधि के रूप में सचिव डीएसीएंडएफडब्ल्यू और अन्तरराष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान (आईआरआरआई), फिलिपींस के महानिदेशक आईआरआरआई द्वारा आज करार ज्ञापन (एमओए) पर हस्ताक्षर किये गये। केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री, राधा मोहन सिंह भी इस मौके पर म...
जीएम फसल पर अदालत करेगी सुनवाई
जीएम फसल पर अदालत करेगी सुनवाई
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 01 अगस्त 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार, 1 अगस्त 2017 को स्पष्ट किया कि यदि सरकार जीन संवर्धित सरसों की फसल की व्यावसायिक खेती की अनुमति देने का निर्णय करती है तो वह इसे चुनौती देने वाली जनहित याचिका पर सुनवाई करेगा। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर और न्यायमूर्ति धनंजय वाईचंद्रचूड़ के पीठ ने यह टिप्पणी उस वक्त की जब केंद्र की ओर से अतिरिक्त सोलिसिटर जनरल पी.एस. नरसिम्हा ने कहा कि सरकार एक-डेढ़ महीने के भीतर इसके व्यावसायिक उपयोग के बारे में नीतिगत निर्णय लेगी। इस पर पीठ ने कहा, 'हम इस मामले को...
फसल बीमा योजना के खराब अनुपालन के लिए कैग ने लगाई लताड़
फसल बीमा योजना के खराब अनुपालन के लिए कैग ने लगाई लताड़
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 31 जुलाई 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
नई दिल्ली। नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) ने 2011-16 के बीच फसल बीमा योजना के खराब अनुपालन के लिए लताड़ लगाई है। कैग ने कहा कि इस अवधि में 3,622.79 करोड़ रुपए का कोष बिना किसी जाँच के निजी बीमाकर्ताओं को जारी किया गया। कैग ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि केंद्र और राज्य दोनों सरकारों ने इस अवधि में प्रीमियम राजसहायता और दावा देनदारिता के लिए कुल 32,606.65 करोड़ रुपए का व्यय किया। इस कोष का लेनदेन सार्वजनिक क्षेत्र की कृषि बीमा कंपनी (ए.आई.सी.) के माध्यम से निजी कंपनियों को किया गया। कैग ने राष्...
भारत 2026 तक विश्व का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक होगा: एफएओ
भारत 2026 तक विश्व का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक होगा: एफएओ
लोकेशन: नई दिल्ली - नई दिल्ली डेट: 29 जुलाई 2017
केटेगरी: समाचार - देश पोस्टेड बाए: कृषक दुनिया
नई दिल्ली, शनिवार, 29 जुलाई 2017। भारत आगामी दशक में दुनिया का सबसे बड़ा दुग्ध उत्पादक देश बन जाएगा। इस सदी की पहली तिमाही के दौरान ही देश का दुग्ध उत्पादन तीन गुना हो चुका है। खाद्य एवं कृषि संगठन (एफ.ए.ओ.) और आॢथक सहयोग संगठन (ओ.ई.सी.डी.) ने यह खुलासा किया है। इस सप्ताह जारी ओ.ई.सी.डी.-एफ.ए.ओ. कृषि परिदृश्य 2017-2026 की रिपोर्ट के अनुसार भारत का दूध उत्पादन 2016 में 16.038 करोड़ टन था, जिसके 2026 तक बढ़कर 22.778 करोड़ टन होने की संभावना है। गायों की संख्या बढ़कर हो सकती है 22.778 करोड़ रिपो...
Pages: पहला पृष्ठ   1 2 3 4 5  आखरी पृष्ठ